May 18, 2024

उत्तराखंड से चौंकाने वाले आयेंगे लोकसभा चुनाव नतीजे : राजीव महर्षि

0

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्य मीडिया समन्वयक राजीव महर्षि ने आज दावा किया कि प्रदेश की जनता बदलाव का मन बना चुकी है और इस बार लोकसभा चुनाव के नतीजे चौंकाने वाले होंगे। उन्होंने दावा किया कि इस बार उत्तराखंड में 2009 के इतिहास की पुनरावृत्ति होने जा रही है और चार जून को इस बात की पुष्टि हो जायेगी।

महर्षि ने कहा कि जोशीमठ आपदा में अपने आशियाने गंवाने वाले लोगों से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को आंसू बहाने पड़े तो साफ हो जाता है कि काठ की हांडी के दिन अब लद गए हैं। महर्षि ने कहा कि जोशीमठ में भू धंसाव से पीड़ित लोग जब राहत की गुहार लगा रहे थे तो तब उन्हें नक्सली बताया जा रहा था, आज उनके सामने कातर स्वर में अपने प्रत्याशी के लिए वोट नहीं मांगने पड़ते। वक्त पर अगर लोगों की बात सुन ली होती, जब लोग संकट में थे, तब उनके आंसू पोंछ लिए होते तो आज उन्हें आंसू नहीं बढ़ाने पड़ते।
राजीव महर्षि ने कहा कि जोशीमठ से लेकर हरिद्वार और अस्कोट से आराकोट तक सर्वत्र लोग कांग्रेस को आशीर्वाद दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे गढ़वाल संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस के पक्ष में अभूतपूर्व लहर है। उन्होंने दोहराया कि भाजपा बुरी तरह से सहमी हुई है और हवा के रुख को देखते हुए भाजपा को प्रधानमंत्री से लेकर रक्षा मंत्री, गृह मंत्री तक को प्रचार के लिए उतारना पड़ा है, उससे भाजपा की चिंता स्पष्ट झलकती है। इसी से समझा जा सकता है कि चुनाव का नतीजा क्या आने वाला है।इसी तरह अल्मोड़ा में कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा ने पूरे माहौल को पलट दिया है, नैनीताल में भाजपा प्रत्याशी ने अपनी निश्चित हार देख कर लोगों से अपील की है कि उनकी गलतियों की सजा मोदी को न दें, इससे सिद्ध हो गया है कि वहां कांग्रेस इतिहास रचने जा रही है।

महर्षि ने कहा कि हरिद्वार में कांग्रेस की स्थिति बेहद मजबूत है। इसी तरह टिहरी में कांग्रेस के अनुभवी नेता जोत सिंह गुनसोला पर लोगों ने भरोसा जताया है और गढ़वाल में कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल ने पूरे चुनाव अभियान को जिस तरह से अपने पक्ष में किया है उससे राजनीति के तमाम पंडित आश्चर्यचकित हैं। महर्षि ने कहा कि कल 19 अप्रैल को प्रदेश की जनता भाजपा को उसकी जगह दिखा कर पांचों सीटों पर कांग्रेस को आशीर्वाद देगी और 2004 के साइनिंग इंडिया के नारे के हस्र की तरह चार सौ पार के नारे को चार सौ पर हार में बदल देगी। उन्होंने प्रदेश की जनता से आग्रह किया है कि वे बढ़ चढ़ कर लोकतंत्र के इस उत्सव में भाग लेकर देश की दशा और दिशा बदलने के भागीदार बनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed